जाने दिल्ली में आम आदमी पार्टी के लोकसभा उम्मीदवारों का क्या है प्रोफाइल

Spread the love

नई दिल्ली : इंडिया गठबंधन का घटक दल आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को दिल्ली और हरियाणा में अपने हिस्से आई पांचों लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की बैठक में पांचों उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम मुहर लगी। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने प्रत्याशियों की घोषणा करते हुए कहा कि दिल्ली में कांग्रेस के साथ हुए समझौते में हमारे हिस्से चार सीटें आई हैं। जिसमें नई दिल्ली सीट से सोमनाथ भारती, पश्चिमी दिल्ली से महाबल मिश्रा, दक्षिणी दिल्ली से सहीराम और पूर्वी दिल्ली से कुलदीप कुमार उम्मीदवार बनाए गए हैं। इसी तरह, हरियाणा में हमारे हिस्से आई कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से वहां के प्रदेश अध्यक्ष सुशील गुप्ता प्रत्याशी होंगे। उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन पूरी मजबूती के साथ लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहा है। इस समय देश को एक नए विकल्प की जरूरत है और इस बार इंडिया गठबंधन जनता को नया विकल्प देगा।

मंगलवार को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी (पीएसी) की बैठक हुई। इस बैठक में इंडिया गठबंधन के घटक दल कांग्रेस के साथ समझौते में आम आदमी पार्टी के हिस्से आई दिल्ली और हरियाणा की पांच सीटों पर उम्मीदवारों के चयन पर अंतिम मोहर लगाई गई। इस दौरान पीएसी के सभी सदस्य बैठक में मौजूद रहे। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सभी सदस्यों से विचार-विमर्श किया और इसके बाद प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) एवं राज्यसभा सदस्य डॉ. संदीप पाठक, दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय और वरिष्ठ नेता आतिशी ने संयुक्त प्रेसवार्ता कर पांचों प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की।

*इंडिया गठबंधन में रहते हुए ‘‘आप’’ पांच राज्यों में 23 सीटों पर चुनाव लड़ेगी- डॉ. संदीप पाठक*

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी इंडिया गठबंधन में रहते हुए पांच राज्यों में चुनाव लड़ने जा रही है। इन सीटों पर आम आदमी पार्टी के कुल 23 उम्मीदवार होंगे। इनमें से पांच उम्मीदवारों की पहले ही घोषणा की जा चुकी है। जबकि, आज पांच अन्य उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर रहे हैं। इनमें 4 दिल्ली और 1 हरियाणा से है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली लोकसभा सीट से सोमनाथ भारती, दक्षिणी दिल्ली से सहीराम, पश्चिमी दिल्ली से महाबल मिश्रा, पूर्वी दिल्ली से कुलदीप कुमार और कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से सुशील गुप्ता आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी होंगे। आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए जिन उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, उन लोगों की जनता में काफी अच्छी छवि है और इन्होंने बहुत अच्छा काम किया है।

डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ समन्व्यय के लिए आम आदमी पार्टी ने एक कॉर्डिनेशन कमेटी का प्रपोजल रखा है। एक-दो दिन में इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। इस बार इंडिया गठबंधन पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़ रही है। देश को एक विकल्प की जरूरत है तो इस बार जनता को वह जरूर मिलेगा।

*भाजपा के सातों सांसद दिल्ली में कहीं नहीं दिखते, जबकि ‘‘आप’’ के उम्मीदवार हर जगह दिखते हैं- गोपाल राय*

“आप“ के दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि आम आदमी पार्टी दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, चंडीगढ़ और असम में अपने उम्मीदवार इंडिया गठबंधन के तहत खड़ी कर रही है। गुजरात में भरुच और भावनगर लोकसभा सीट से उम्मीदवार घोषित किए जा चुके हैं। इसी कड़ी में आज दिल्ली से चार और हरियाणा से एक लोकसभा सीट पर इंडिया गठबंधन के बैनर तले आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे। खासकर पूर्वी लोकसभा सीट को लेकर आम आदमी पार्टी ने एक ऐतिहासिक फैसला किया है। यह लोकसभा की सामान्य सीट है। ऐसे में इस सीट से पार्टी ने कोंडली से विधायक कुलदीप कुमार, जो एससी वर्ग से आते हैं। उनको चुनाव लड़ाने का फैसला किया है। दिल्ली में शायद यह पहली बार है कि सामान्य सीट से एक आरक्षित वर्ग के उम्मीदवार को खड़ा करने का कोई पार्टी निर्णय ले रही है। वहीं, मालवीय नगर के विधायक, दिल्ली सरकार में पूर्व मंत्री और वर्तमान में जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सोमनाथ भारती को नई दिल्ली से उम्मीदवार बनाया गया है।

गोपाल राय ने कहा कि भाजपा कह रही है कि पिछले लोकसभा चुनाव में हमारी जीत का अंतर ज्यादा था। अगर अंतर ज्यादा है तो फिर जब से दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में गठबंधन हुआ है। उस दिन से भाजपा सभी लोकसभा सीटों पर उम्मीदवार क्यों ढूंढ रही है। अगर जीत का अंतर ज्यादा है तो इतनी माथा-पच्ची करने की जरूरत क्यों पड़ रही है। भाजपा का सांसद न कहीं दिखता है और न कुछ करता है। वहीं, आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हर जगह दिखते हैं और लगातार काम करते हैं।

*“आप“ चुनावों में टिकट देने से पहले उम्मीदवारों में केवल यह देखती है कि कौन जनता के लिए काम करना चाहता है- आतिशी*

वहीं, “आप“ की वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि आम आदमी पार्टी देश की इकलौती पार्टी है, जो जातिवाद की राजनीति को खत्म करने का प्रयास कर रही है। वरना दिल्ली समेत देश की राजनीति को देखें तो चाहे लोकसभा चुनाव हो या फिर विधानसभा का, जब भी टिकटों का फैसला होता है तो हर सीट में जातियों की संख्या के आधार पर टिकटों का वितरण होता है। लेकिन जब से आम आदमी पार्टी राजनीति में आई है, तब से इस प्रकार के समीकरण को खत्म करने का प्रयास शुरू हो चुका है। “आप“ चुनाव में टिकट देने से पहले उम्मीदवारों में बस यह देखती है कि कौन जनता के लिए काम करना चाहता है। कौन जनता के बीच में रहकर, उनकी सेवा करता है और कौन उनकी समस्याओं का समाधान करता है। इसको देखते हुए कुलदीप कुमार मोनू को हमने पूर्वी दिल्ली से उम्मीवार बनाया है।

उन्होंने कहा कि कुलदीप कुमार कुछ साल पहले तक आम आदमी पार्टी के एक सामान्य कार्यकर्ता थे। उन्होंने साल 2017 में पहली बार पार्षद का चुनाव लड़ा और कल्याणपुरी वार्ड से पार्षद बने। इसके बाद कोंडली विधानसभा से साल 2020 में उनको टिकट मिला। उन्होंने इसमें अपने काम, मेहनत और जनता की सेवा की वजह से जीत दर्ज की। इसी मेहनत की वजह पार्टी ने उनको प्रदेश उपाध्यक्ष भी बनाया। आज आम आदमी पार्टी अब कुलदीप कुमार को पूर्वी दिल्ली सामान्य लोकसभा सीट से चुनाव भी लड़वा रही है। पूर्वी दिल्ली में ‘‘आप’’ ने जो एससी समाज से आने वाले कुलदीप कुमार को टिकट दिया है, यह आम आदमी पार्टी का एक द्योतक है कि आम आदमी पार्टी सिर्फ राजनीति करने नहीं आई है, बल्कि इस देश की राजनीति को बदलने आई है। मुझे इस बात गर्व है कि दिल्ली के लोगों ने हमेशा इस राजनैतिक बदलाव का समर्थन किया है। मुझे पूरा भरोसा है कि जो प्यार और भरोसा दिल्लीवालों ने हमेशा आम आदमी पार्टी के प्रति दिखाया है, आने वाले लोकसभा चुनाव में भी दिखाएंगी। उन्होंने कहा कि पार्टी ने दिल्ली में जिन चार लोगों को टिकट दिया है, अगर कोई उन चारों उम्मीदवारों के क्षेत्र में जाकर पूछेगा तो वहां की जनता कहेगी कि ये लोग 24 घंटे उनकी जरूरतों पर उपलब्ध रहते हैं।

*पश्चिमी दिल्ली से प्रत्याशी महाबल मिश्रा*

महाबल मिश्रा मूलरूप से बिहार के मधुबनी स्थित सिरियापुर के रहने वाले हैं। वो कई सालों से दिल्ली में पूर्वांचल समुदाय का एक प्रमुख चेहरा रहे हैं। भारतीय सेना से रिटायरमेंट लेने के बाद इन्होंने कई समाजिक कार्य किए। इनका जन्म 31 जुलाई 1953 को हुआ था, और ये अपनी पत्नी, एक बेटी और दो बेटों के साथ दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने डिप्लोमा इन ट्रांजिस्टर थ्यौरी से डिप्लोमा किया है। आर्मी से रिटायर्ड होने के बाद वो 1982 में सामाजिक कार्यों में लग गए। उन्होंने 1997 में पहली बार पार्षद का चुनाव लड़े और जीते। महाबल मिश्रा 1997 से 2008 तक दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के सदस्य रहे। साल 1998 में वो दिल्ली के नसीरपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। साल 2003 और 2008 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो लगातार दूसरी और तीसरी बार नसीरपुर से विधायक चुने गए। साल 2009 तक वो दिल्ली विधान सभा के सदस्य रहे। इसके बाद 2009 में 15वीं लोकसभा चुनाव में सांसद चुए गए। इस दौरान वो पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस पर बनी समिति, गृह मामलों की सलाहकार समिति और विद्युत मामलों पर परामर्श देने वाली समिति के सदस्य रहे। 2024 में महाबल मिश्रा लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिमी दिल्ली सीट से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हैं।

*दक्षिण दिल्ली से प्रत्याशी सहीराम पहलवान*

सहीराम पहलवान का जन्म दक्षिणी दिल्ली के तुगलकाबाद विधानसभा क्षेत्र के तेंखंड गांव में हुआ। इनके पिता एक समाजसेवी थे। सहीराम कुश्ती के खिलाड़ी रहे हैं, जिसके कारण इनके नाम के साथ “पहलवान“ शब्द भी जुड़ गया। इन्होंने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) में भी अपनी सेवा दी है। सामाजिक कार्यों में रूचि होने के कारण इन्होंने सीआईएसएफ से इस्तीफा दे दिया। सहीराम पहलवान के राजनीतिक करियर की शुरुआत 1997 से हुई, जब वो पहली बार एमसीडी में पार्षद चुने गए। साल 1999 से 2002 तक वो दिल्ली नगर निगम (मध्य क्षेत्र) के अध्यक्ष रहे। साल 2007 और 2013 में सहीराम पहलवान लगातार दूसरी और तीसरी बार निगम पार्षद चुने गए। इसके बाद 2013 में वो एमसीडी के डिप्टी मेयर पद पर रहे। 2015 में सहीराम पहलवान पहली बार अपनी जन्मभूमि तुगलकाबाद विधानसभा सीट से विधायक चुने गए। 2020 में वो दूसरी बार इसी सीट से दिल्ली विधानसभा के सदस्य बनें। इस साल 2024 में सहीराम पहलवान दक्षिण दिल्ली से लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हैं।

*नई दिल्ली से प्रत्याशी सोमनाथ भारती*

नई दिल्ली लोकसभा सीट से प्रत्याशी सोमनाथ भारती मालवीय नगर विधानसभा से लगातार तीसरी बार विधायक हैं। वो दिल्ली सरकार के पूर्व कानून, प्रशासनिक सुधार, कला और संस्कृति मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान में दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष हैं। इसके अलावा सोमनाथ भारती तमिलनाडु, पॉन्डिचेरी, केरल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, अंडमान एवं निकोबार और लक्षद्वीप में “आप“ के प्रभारी हैं। वो आईआईटी दिल्ली एलुमनी एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और सीनेट के पूर्व सदस्य भी रह चुके हैं। सोमनाथ भारती ने 1997 में आईआईटी दिल्ली से एमएससी की डिग्री हासिल की। फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री लेकर दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की। उन्होंने कानून को अपना पेशा बनाने के बाद भी न्यायिक सुधारों और समाज के असहाय, गरीब और अनपढ़ लोगों की ओर से विभिन्न मुद्दों पर कई जनहित याचिकां दायर करके शासन व्यवस्था पर बार-बार सवाल उठाए।

इसके बाद 2010 में सोमनाथ भारती की मुलाकात दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से हुई और तब से उनके साथ जुड़ गए। 26 नवंबर 2012 को जब आम आदमी पार्टी गठन हुआ तो सोमनथ भारती इसके संस्थापक सदस्य बने। जब 2013 में वो मालवीय नगर से “आप“ के विधायक चुने गए तो कानून मंत्री बने और उन्होंने कोर्ट की र्काय़वाही में पारदर्शिता लाने के लिए ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग सहित 19 प्रमुख सुधारों की शुरुआत की। उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव में 2015 और 2020 में मालवीय नगर तीसरी बार जीत दर्ज की। वह डीडीए में भूमि और विकास को नियंत्रित करने वाले बोर्ड के सदस्य भी रहे। सोमनाथ भारती अपने निर्वाचन क्षेत्र को 35 मोहल्ला सभाओं में 40 व्हाट्सएप ग्रुप चलाकर लोगों की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास करते हैं। लोगों से जुड़ने के लिए वह अपने निर्वाचन क्षेत्र में हर दिन किसी के घर एक बार भोजन करते हैं। आईआईटी दिल्ली एलुमनी एसोसिएशन ने उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्र के विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए ओसीएनडी पुरस्कार से सम्मानित किया

*पूर्वी दिल्ली से प्रत्याशी कुलदीप कुमार*

कुलदीप कुमार युवा और गतिशील सामाजिक कार्यकर्ता होने के साथ-साथ राजनीतिक नेता हैं। वो एक बहुत ही सामान्य परिवार से आते हैं। उनके पिता दिल्ली नगर निगम में सफ़ाई कर्मचारी के तौर पर कार्यरत है। उन्होंने 18 साल की उम्र में पूर्वी दिल्ली में अम्बेडकर आंदोलन का नेतृत्व किया और शिक्षा के प्रति जागरूकता के लिए दलित युवाओं को लामबंद किया। उन्होंने दिल्ली विश्विधालय के श्याम लाल कॉलेज से हिस्ट्री ऑनर्स की शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद इंडिया अगेंस्ट करप्शन और अन्ना आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई। वो पूर्वी दिल्ली में आम आदमी पार्टी के अग्रणी कार्यकर्ता रहे। 27 साल की उम्र में वो 2017 में कल्याणपुरी वार्ड से ’सबसे कम उम्र के निगम पार्षद चुने गए और सदन में विपक्ष के नेता के रूप में नामांकित होने वाले सबसे कम उम्र के नेता बने।

कुलदीप कुमार के पास आम आदमी पार्टी में प्रमुख विभाग हैं। उन्हें आम आदमी पार्टी अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति विंग का अध्यक्ष बनाया गया था। वह पार्टी के प्रवक्ता हैं और विभिन्न समाचार चैनल और टीवी बहस में पार्टी और सरकार के प्रयासों का प्रतिनिधित्व करते हैं। तीन साल के भीतर, उन्हें कोंडली विधानसभा से दिल्ली चुनाव 2020 में ’विधानसभा के सदस्य (विधायक) के रूप में चुना गया। वह दिल्ली विधानसभा में सबसे कम उम्र के विधायकों में से एक हैं। पूर्वी दिल्ली जामनपार के दो बड़े अस्पताल लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल खिचड़ीपुर व गुरुतेग बहादुर हॉस्पिटल दिलशाद गार्डन के चेयरमैन के तौर पर नियुक्त हैं। “मोनू भैया“ के नाम से प्रसिद्ध कुलदीप कुमार अपने लोगों के बीच यूथ आइकन हैं।

*कुरुक्षेत्र से प्रत्याशी सुशील गुप्ता*

सुशील कुमार गुप्ता एक प्रख्यात शिक्षाविद्, कृषिविद् और सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जो पिछले कुछ दशकों से मुख्य रूप से शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में योगदान दे रहे हैं। वो दिल्ली और हरियाणा में कई धर्मार्थ संगठनों से जुड़े रहे हैं।सुशील गुप्ता के शैक्षणिक संस्थान दिल्ली और हरियाणा में 15 हजार से अधिक छात्रों को सेवा प्रदान करता है। वर्ष 2018 में आम आदमी पार्टी ने उन्हें राज्यसभा में भेजा। जहां पूरी मजबूती के साथ उन्होंने शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा समेत अन्य मुद्दों पर अपनी आवाज बुलंद की। बी.कॉम, एलएलबी और डी लिट की डिग्री प्राप्त सुशील गुप्ता आम आदमी पार्टी के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष भी हैं।