आम आदमी पार्टी मुख्यालय की जासूसी करवा रही केंद्र सरकार, सीसीटीवी फुटेज ने खोली पोल- सौरभ भारद्वाज

Spread the love

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को एक सीसीटीवी फुटेज जारी करते हुए केंद्र सरकार पर “आप” मुख्यालय की जासूसी की जासूसी करने का आरोप लगाया है .

इस संबंध में “आप” पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर “आप” वरिष्ठ नेता एवं कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार, आम आदमी पार्टी मुख्यालय की जासूसी करवा रही है .

प्रेसवार्ता के दौरान ‘‘आप’’ वरिष्ठ नेता व कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हिंदुस्तान में इस तरीके से डर और दहशत का माहौल है कि सरकार किसकी जासूसी कैसे करा रही है, इस संबंध में किसी को मालूम नहीं है . अभी तक केवल लोगों की जासूसी हुआ करती थी, मगर अब भारत के एक राष्ट्रीय दल की राष्ट्रीय कार्यालय की जासूसी कराई जा रही है.

जहां केंद्र सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास कहती है, ये जासूसी वहीं हो रही है.आखिर इस देश में केंद्र सरकार पर कैसे विश्वास करें, जब देश की राजधानी दिल्ली में चुनी हुई सरकार की पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय की जासूसी केंद्र सरकार द्वारा कराई जा रही हो. हमने पहले भी बताया था कि कुछ हफ्तों पहले मुख्यमंत्री आवास की जासूसी कराई जा रही थी और अब हमारे राष्ट्रीय कार्यालय की जासूसी कराई जा रही है.

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सौरभ भारद्वाज ने इस संबंध में मिले सबूतों को सीसीटीवी फुटेज के जरिए दिखाया .

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में आम आदमी पार्टी कार्यालय के बाहर चार आदमी के खड़े दिख रहे हैं.वे राहगीरों की तरह यहां पर इधर-उधर टहलने का ढोंग कर रहे हैं.इसमें ये लोग किसी सरकारी संस्था से जुड़े लग रहे है. वहीं, तीन अन्य लोग पार्टी के आफिस के अंदर चले जाते है. बाहर मौजूद लोग पार्टी कार्यालय के अंदर भी झांकते देखे गए। अंदर जाने वाले तीन व्यक्ति उन चार लोगों से मिले हैं.कार्यालय के बाहर सिक्योरिटी वाले ने अंदर जाने वाले लोगों से उनका नाम व पता पूछा। मगर उन्होंने नाम और पता नहीं लिखा. कैमरे की ओर देखने के बाद ये लोग वहां से जल्द से जल्द निकल गए.

कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि लगातार भारत जैसे एक प्रजातांत्रिक देश में एक राष्ट्रीय दल के राष्ट्रीय कार्यालय की जासूसी हो रही है. इसके पीछे का कारण केंद्र सरकार बताएगी। आखिर केंद्र को अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी से क्या डर है और क्यों जासूसी की जा रही है? अगर सब कुछ लीकल है तो वे लोग नाम और पद बता सकते थे.

उन्होंने कहा कि इसी तरीके से कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री आवास की भी जासूसी की जा रही थी। यह कोई छोटी बात नहीं है। हमारी पार्टी के दफ्तर में कौन, क्यों आता है और क्या काम हो रहा है, इससे भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय सरकार को क्या लेनादेना है? इसी देश में कुछ दिनों पहले बताया गया कि केंद्र सरकार ने पेगासस सॉफ्टवेयर खरीदा था। केंद्र से सवाल पूछे गए कि क्या आपने इज़राइल से सॉफ्टवेयर खरीदा है? कई जगह इसकी पुष्टि हुई कि जिन बड़े प्रभावशाली लोगों की सरकार से बनती नहीं है, उनके फोन में उस तरह के सॉफ्टवेयर के अवशेष मिले। ये खुल्लम-खुल्ला जासूसी हो रही है। यह पूरे प्रजातंत्र के लिए बहुत गंभीर बात है।