आम आदमी पार्टी का दावा : MCD के कर्मचारियों को वक़्त पर वेतन देने का वादा किया पूरा

Spread the love

नई दिल्ली : एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि एमसीडी में ‘आप’ की सरकार बनते ही सभी सफाई कर्मचारियों को पहली तारीख को तनख्वाह मिली है। जो काम भाजपा 15 सालों में नहीं कर पाई, सीएम अरविंद केजरीवाल ने मात्र 3 महीनों में करके दिखा दिया। पहली जुलाई को तनख्वाह जारी करने के लिए मैं दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल जी का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता, राजेंद्र नगर के विधायक एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय पर प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में एमसीडी में शानदार काम होने लगे हैं। अब जनता हर जगह यही कह रही है कि जो काम 15 सालों में भाजपा कभी नहीं कर पाई, वह काम अरविंद केजरीवाल जी ने मात्र तीन से चार महीनों के अंदर करके दिखा दिया है। एमसीडी में भाजपा के शासनकाल के दौरान सफाई कर्मचारियों को समय से वेतन ना मिलना एक बहुत बड़ी समस्या थी। अगर आप पिछले तीन-चार वर्षों के अखबार पढ़ेंगे तो उनमें अक्सर कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं मिलने की खबरें छपती थी।

कभी 3 महीने, कभी 6 महीने, कभी 8 महीने तो कभी 10 महीनों तक सफाई कर्मचारियों को तनख्वाह मिलती ही नहीं थी। पूरी एमसीडी भाजपा के भ्रष्टाचार में लिप्त थी। मैं आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मात्र 3 महीनों में इस समस्या को खत्म कर दिया। पहली बार एमसीडी के सभी कर्मचारियों को पहली जुलाई को तनख्वाह मिली है। इससे पहले समय पर तनख्वाह ना मिलने के कारण कर्मचारियों को जगह-जगह धरना देना पड़ता था। 15 सालों में भाजपा इस समस्या का समाधान नहीं कर पाई जो अरविंद केजरीवाल जी ने मात्र 3 महीनों में करके दिखा दिया।

यह सफाई कर्मचारी सुबह 6 बजे उठकर दिल्ली की सड़कों की सफाई करने निकल पड़ते हैं। भाजपा के शासनकाल के दौरान अक्सर लोग शिकायत करते थे कि दिल्ली बहुत गंदी है, दिल्ली में साफ सफाई नहीं होती है। आप उस कर्मचारी से सफाई की अपेक्षा कैसे कर सकते हो जिसको कई-कई महीनों से तनख्वाह ना मिली हो। जब तक उन्हें समय पर वेतन नहीं मिलेगा, उन्हें सम्मान नहीं मिलेगा, उनसे किसी भी काम की अपेक्षा कैसे की जा सकती है। आम आदमी पार्टी ने एक भी कर्मचारी को ट्रांसफर या निलंबित नहीं किया। और पहली बार दिल्ली में अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में वह काम हुआ है जो भाजपा 15 सालों में नहीं कर पाई।