कांग्रेस महिला पार्षदों पर आप पार्षदों की टिप्पणी को लेकर एमसीडी सदन में जमकर हुआ हंगामा

Spread the love

एम. उज्जमा खान
नई दिल्ली :
दिल्ली नगर निगम ( MCD ) की सदन की बैठक में आम आदमी पार्टी के पार्षदों द्वारा कांग्रेस महिला पार्षदों को लेकर की अभद्र टिप्पणी को ले सदन के अंदर और महापौर कार्यालय के बाहर जमकर हंगामा किया और मांग करी की इन पार्षदों को निलंबित किया जाए. वहीं सार्वजनिक रूप से सदन में माफी मंगवाई जाए, क्योंकि यह मुद्दा महिला सम्मान से जुड़ा हुआ है लगभग 1 घंटे से ज्यादा हंगामा के बाद सदन के नेता मुकेश गोयल के साथ महापौर और कांग्रेस पार्षदों की बैठक के बाद भरोसा दिया गया कि सोमवार को सारे मामले की रिकॉर्डिंग देखी जाएगी इसके बाद दोषी पार्षदों पर कार्यवाही होगी

कांग्रेस ने कहा है कि हम सोमवार तक का इंतजार करेंगे उसके बाद महापौर क्या कार्रवाई करती हैं अगली रणनीति तय होगी.

सदन की बैठक में हंगामे की शुरुआत उसे समय हुई जब कांग्रेस पार्षद नाजिया खातून अपने वार्ड को लेकर बात रख रही थी तब पीछे से आम आदमी पार्टी के कुछ पार्षद अपनी टिप्पणी कर रहे थे ।जिसको लेकर तनातनी का माहौल था इस बीच कांग्रेस पार्षदों ने आरोप लगाया कि आप पार्षदों ने पीछे से बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी करी है.

कांग्रेस की अरीबा खान का कहना था यह कोई पहला मौका नहीं है जब इस तरह की हरकत हुई हो इससे पहले भी आप पार्षद पीछे से टिप्पणियां करते हैं ,उन्होंने कहा दुख का विषय यह था कि जब उन्होंने टिप्पणी करी उसे समय महापौर डिप्टी मेयर डिप्टी मेयर नेता सदन सभी हंस रहे थे। जबकि यह महिला सम्मान का विषय था कांग्रेस पार्षद दल की नेता नाजिया दानिश ने कहा कि हम इस तरह के व्यवहार को कतई बर्दाश्त नहीं कर सकते ,जब सदन में खुलेआम सदन में जब खुलेआम इस तरह का व्यवहार महिला पार्षदों से होगा तब हम किस महिला सम्मान की बात करेंगे.

हंगामा के बीच सदन की कार्यवाही समाप्त होते ही जब कांग्रेस महिला पार्षद पीछे-पीछे महापौर के कमरे में पहुंची उनका आरोप है कि वहां पहले ही मौजूद आम आदमी पार्टी की महिला निगम पार्षदों ने धक्का मुक्की की इसके बाद कांग्रेसी पार्षद शगुफ्ता चौधरी ,शिखा चौधरी पार्षद समीर अहमद, नाजिया दानिश और नाजिया खातून महापौर कार्यालय के सामने फर्श पर धरने पर बैठ गई और नारेबाजी शुरू कर दी ।काफी देर तक यह सिलसिला चलता रहा इस दौरान निगम मुख्यालय में पुलिस के अधिकारी भी पहुंच गए थे ,जब महिला पार्षदों ने कहा कि वह जब तक कार्यवाही नहीं होगी धरने पर बैठी रहेगी। एक बार स्थिति तनाव पूर्ण हो गई इसके बाद नेता सदन मुकेश गोयल कांग्रेस की महिला पार्षदों को महापौर के कक्ष में ले गए और वहां बैठकर उन्हें भरोसा दिया गया कि इस मामले में जरूर कार्यवाही होगी।