भाजपा के इशारे पर प्राचीन मंदिरों को तुड़वाकर दिल्ली की शांति व्यवस्था बिगाड़ना चाहते हैं एलजी- कुलदीप कुमार

Spread the love

नई दिल्ली : एलजी वीके सक्सेना के आदेश पर दिल्ली के भजनपुरा में एक प्राचीन मंदिर तोड़े जाने पर आम आदमी पार्टी ने कड़ी आपत्ति जताई है.

‘‘आप’’ के वरिष्ठ नेता एवं विधायक कुलदीप कुमार का कहना है कि भाजपा के इशारे पर एलजी दिल्ली में प्राचीन मंदिरों को तुड़वा रहे हैं और इसके जरिए वह दिल्ली की कानून व्यवस्था को बिगाड़ना चाहते हैं.
विधायक कुलदीप कुमार ने पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी द्वारा एलजी को लिखे उस पत्र का भी हवाला दिया, जिसमें मंत्री ने दिल्ली में मंदिरों को तोड़ने का निर्णय वापस लेने की मांग की है। कुलदीप कुमार का कहना है कि पीडब्ल्यूडी मंत्री की मांग के बावजूद आज भजनपुरा में एक मंदिर को तोड़ दिया गया। आम आदमी पार्टी अपील करती है कि एलजी दिल्लीवालों की आस्था और विश्वास के साथ न खेलें और मंदिरों को तोड़ने के निर्णय को वापस लें।

पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर “आप” के वरिष्ठ नेता एवं विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि एलजी विनय कुमार सक्सेना लगातार दिल्ली में धार्मिक स्थानों को तुड़वाने का काम कर रहे हैं। दिल्ली के लोगों की आस्था और विश्वास से खिलवाड़ कर रहे हैं। इस संबंध में कुछ दिन पहले भी हमने जानकारी दी थी कि एलजी ने दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर प्राचीन मंदिरों और धार्मिक स्थलों को तोड़ने का आदेश दिया है। आज दिल्ली के भजनपुरा इलाके में एक मंदिर और धार्मिक स्थल तोड़ा गया। कुलदीप कुमार ने पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी के उस पत्र का भी हवाला दिया, जो एलजी को लिखा गया है। इस पत्र में पीडब्ल्यूडी मंत्री आतिशी ने एलजी से मंदिरों व अन्य स्थलों को तोड़ने का निर्णय वापस लेंने की मांग की हैं।

विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि भाजपा की दिल्ली के लोगों की भावनाओं और आस्था से खेलने की हमेशा से आदत रही है। अभी कुछ समय पहले श्रीनिवासपुरी में मंदिर तोड़ा गया। उसके बाद मंडावली में एक मंदिर को तोड़ने की कवायद की गई और आज भजनपुरा इलाके में एक मंदिर तोड़ा गया। दिल्ली में लगातार मंदिरों को तोड़ा जा रहा है। अभी 6 और मंदिरों को तोड़ने का प्रस्ताव एलजी ने पास किया है। एलजी का कहना है कि लॉ एंड ऑर्डर का मामला दिल्ली सरकार के पास नहीं आता है। इसलिए धार्मिक कमेटी के मामले को मुख्य सचिव सीधे एलजी को भेजें। इसमें दिल्ली की चुनी हुई सरकार से कोई स्वीकृति न ली जाए।

विधायक कुलदीप कुमार ने कहा कि आखिर एलजी दिल्ली की शांति-सौहार्द को क्यों बिगड़ना चाहते हैं? वह दिल्ली के लोगों की भावनाओं से क्यों खेल रहे हैं? भाजपा दिल्ली में धार्मिक स्थलों को तोड़ने का काम क्यों कर रही है? मेरा बीजेपी और एलजी से आग्रह है कि दिल्ली के लोगों की भावना और आस्था से मत खेलिए। दिल्ली के लोग भगवान के प्रति बहुत आस्था रखते हैं. उन प्राचीन मंदिरों से लोगों की आस्था और विश्वास जुड़ा हुआ है. सैकड़ों साल पुराने मंदिरों को तोड़ने का काम मत कीजिए। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल के पास 6 और मंदिरों को तोड़ने की सूची है। पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एलजी के इन प्रस्तावों को पहले ही खारीज कर चुके थे। एलजी दिल्लीवालों की आस्था और विश्वास से मत खेलें और अपने इस निर्णय को वापस लें। दिल्ली की चुनी हुई सरकार के अधिकारों को छीनकर दिल्ली के मंदिरों को तोड़ने का काम न करें.