केजरीवाल सरकार का दिल्लीवालों को बड़ा सौगात, मुफ्त और 24 घंटे बिजली जारी रहेगी

Spread the love

नई दिल्ली : दिल्ली में मुफ्त बिजली ( Delhi free electricity ) पर संशय ख़त्म हो गया है. सीएम अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind kejriwal ) के अथक प्रयास से दिल्ली में मुफ्त और 24 घंटे बिजली मिलने का रास्ता साफ हो गया है. केजरीवाल सरकार ने दिल्लीवालों को बिजली पर मिलने वाली सब्सिडी ( bijli ) को अगले एक साल के लिए बढ़ाकर बड़ा तोहफा दिया है.

इससे दिल्ली के लाखों उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिली है। 200 यूनिट तक बिजली खपत करने वाले करीब 22 लाख परिवारों का बिल जीरो आता रहेगा, जबकि 400 यूनिट तक वालों का आधा बिल आएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में मुफ्त बिजली योजना को 31 मार्च 2025 तक बढ़ाने का फैसला लिया गया. इस पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवालों को बधाई देते हुए कहा कि फ्री बिजली योजना मार्च 2025 तक के लिए बढ़ा दी गई है. कई लोगों के मन में संशय था कि अगले साल सब्सिडी मिलेगी या नहीं? इन लोगों ने तो इसे रोकने की पूरी कोशिश की, लेकिन आपके बेटे ने ये काम भी करवा ही लिया.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली के लोगों को मैं बहुत-बहुत बधाई देता हूं। आपकी 24 घंटे बिजली (जीरो पॉवर कट) और फ्री बिजली 31 मार्च 2025 तक के लिए बढ़ा दी गई है। इसमें वकील भाइयों के चैम्बर की भी फ्री बिजली शामिल है। हालांकि बिजली सब्सिडी को लेकर कई लोगों के मन में संशय था कि अगले साल मिलेगी या नहीं मिलेगी? सीएम ने कहा, आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि 24 घंटे बिजली और फ्री बिजली केवल दिल्ली और पंजाब में ही मिलती है। क्योंकि दिल्ली में ईमानदार और पढ़े लिखे लोगों की सरकार है। इसके अलावा, बाकी पूरे देश में लंबे-लंबे पॉवर कट लगते हैं और हज़ारों रुपए के बिजली बिल भरने पड़ते हैं।

दरअसल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में गुरुवार को कैबिनेट की बैठक हुई. बैठक में सभी कैबिनेट मंत्री मौजूद रहे। बैठक में दिल्ली में फ्री बिजली योजना को आगे जारी रखने को लेकर एक प्रस्ताव रखा गया। इस प्रस्ताव पर कैबिनेट ने पूरी गंभीरता से चर्चा की और सर्व सम्मति से फ्री बिजली योजना को 31 मार्च 2025 तक जारी रखने के प्रस्ताव को अपनी मंजूरी दे दी। कैबिनेट के इस बड़े फैसले के बाद दिल्लीवालों को अगले एक साल तक बिजली पर सब्सिडी मिलती रहेगी.

उधर, इस मुद्दे पर दिल्ली की ऊर्जा मंत्री आतिशी ने कहा कि दिल्ली में 24 बिजली देना और फ्री बिजली देना अरविंद केजरीवाल की सरकार का न सिर्फ वादा है, बल्कि ऐसा वादा है, जिसे लगातार पिछले 9 सालों से हम पूरा करते आ रहे हैं. दिल्ली इकलौता ऐसा राज्य है, जहां 24 घंटे बिजली आती है और 22 लाख परिवारों का बिजली का बिल जीरो आता है. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार की ऐसी कोई भी पॉलिसी नहीं है, जिसका हमारे विरोधी रोकने का प्रयास नहीं करते हैं। साल दर साल जब भी अरविंद केजरीवाल दिल्लीवालों के लिए कोई काम करने की कोशिश करते है, दिल्लीवालों के हक़ में कोई फैसला लेने की कोशिश करते है तो हमारे विरोधी उसे रोकने का हर संभव प्रयास करते हैं।

ऊर्जा मंत्री आतिशी ने कहा कि पिछले साल भी बिजली की सब्सिडी को रोकने के लिए हमारे विरोधियों द्वारा भरसक प्रयास किया गया था। एक समय ऐसा आया था, जब हमें घोषणा करनी पड़ी थी कि आज के बाद बिजली का जीरो बिल आना बंद हो जाएगा। इस साल भी पिछले एक महीने से लगातार इन लोगों ने हर संभव प्रयास कर लिया कि 2024-25 में दिल्लीवालों का जीरो बिजली का बिल न आए और किसी प्रकार केजरीवाल सरकार की बिजली पर दी जाने वाली सब्सिडी रुक जाए. इन्होंने अफ़सरों को बुलाकर धमकाया और पूरी कोशिश कर ली कि दिल्लीवालों के जीरो बिजली के बिल रुक जाएं. जैसा कि दिल्लीवालों को पता है कि अरविंद केजरीवाल ने एक बार जब दिल्ली के लोगों से कोई वादा कर दिया तो उसको पूरा करने के लिए उन्हें चाहे जितना भी संघर्ष करना पड़े, किसी के आगे हाथ जोड़ना पड़े या लड़ाई करना पड़े, लेकिन वो अपना वादा पूरा करके रहते हैं.

ऊर्जा मंत्री आतिशी ने कहा कि आज मुझे दिल्लीवालों को यह बताते हुए बहुत ख़ुशी हो री है कि आज केजरीवाल सरकार की कैबिनेट बैठक हुई। बैठक में कैबिनेट ने दिल्लीवालों को बिजली पर मिलने वाली सब्सिडी वित्तीय वर्ष 2024-25 में भी जारी रखने का फैसला लिया है. जिस तरह अभी तक दिल्ली के लोगों को 200 यूनिट तक बिजली फ्री मिलती है और 400 यूनिट तक बिजली के बिल आधा आता है, वो जारी रहेगी। इसके अलावा, जो सब्सिडी दिल्ली के किसानों, वकीलों और 1984 दंगा पीड़ितों को बिजली पर जो सब्सिडी पिछले वित्तीय वर्ष 2023-24 में मिलती आई है, उसी तरह से आने वाले साल में भी सब्सिडी मिलती रहेगी। दिल्लीवालों का बिजली का बिल जीरो आता रहेगा। अब यह पॉलिसी 31 मार्च 2025 तक के लिए पास कर दी गई है।