एमसीडी के इतिहास में पहली बार सभी कर्मचारियों को 1 तारीख को मिला वेतन :- मेयर

Spread the love

नई दिल्ली .दिल्ली की मेयर डॉ शैली ओबरॉय ने दिल्ली नगर निगम मुख्यालय सिविक सेंटर में कर्मचारियों के वेतन को लेकर महत्वपूर्ण प्रेसवार्ता को संबोधित किया.

उन्होंने कहा कि निगम के इतिहास में पहली बार 1 तारीख को सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के वेतन का भुगतान हुआ है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का सपना है कि दिल्ली को विश्वस्तरीय शहर बनाया जाए। उनके सपने को साकार करने का काम दिल्ली नगर निगम की ‘आप’ सरकार कर रही है। दिल्ली नगर निगम में जो काम पिछली सरकार 15 साल में जो काम नहीं कर पायी, वह आम आदमी पार्टी की सरकार ने महज 6 माह कर पूरा कर दिया है।

उन्होंने कहा कि मैं कर्मचारियों को आश्वासन देती हूं कि जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा किया जाएगा। यह बेहद प्रसन्नता एवं गर्व का विषय है कि ए ग्रुप से लेकर डी ग्रुप तक के कर्मचारियों का वेतन एक तारीख को जारी किया जा रहा है। ऐसा काम सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में सिर्फ पढ़ी लिखी सरकार ही कर सकती है।

एमसीडी में नेता सदन मुकेश गोयल ने कहा कि ‘आप’ सरकार हमेशा से कर्मचारियों के हितों के बारे में सोचती आई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में निगम की आप सरकार ने वो काम कर दिखाया है जो पिछली सरकारें 15 साल में भी नही कर पाई। दिल्ली नगर निगम ने समय से वेतन का भुगतान कर दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की एक गारंटी पूरी की है। श्री मुकेश गोयल ने कहा कि किसी भी संस्था को चलाने के लिए कर्मचारियों के वेतन का समय से भुगतान आवश्यक है तथा अब सभी कर्मचारी दुगुनी मेहनत से कार्य करेंगे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में पिछले दिनों दिल्ली में हुई भारी बारिश के चलते दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी विभागों की मीटिंग कर डेंगू मलेरिया की रोकथाम के लिए साझा प्रयास करने के निर्देश दिए थे। इसी कड़ी में निगम ने ड्रोन के माध्यम से लार्वा रोधक दवा का छिड़काव करने का सफल परीक्षण कर लिया है। अब ड्रोन की सहायता से उन इलाकों जैसे कि झील, नहर इत्यादि में दवा का छिड़काव संभव हो सकेगा, जहां कर्मचारी नहीं पहुंच सकते।

दिल्ली के डिप्टी मेयर आले मोहम्मद इकबाल ने कहा कि आप पार्टी ने हमेशा कर्मचारियों के हितों के बारे में सोचा है। अब कर्मचारियों को अपने वेतन के लिए धरना प्रदर्शन नहीं करना पड़ेगा।