इंडिया गठबंधन का एलान : दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, चंडीगढ़ और गोवा में आप-कांग्रेस मिलकर लड़ेगी चुनाव

Spread the love

नई दिल्ली : इंडिया गठबंधन ने लोकसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर शनिवार को बड़ा एलान किया. इंडिया गठबंधन के घटक दल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, चंडीगढ़ और गोवा में मिलकर चुनाव लड़ेगी। दिल्ली की 7 में से चार लोकसभा सीटों पर आम आदमी पार्टी और तीन सीटों पर कांग्रेस अपना प्रत्याशी उतारेगी। दिल्ली की नई दिल्ली, वेस्ट दिल्ली, साउथ दिल्ली व ईस्ट दिल्ली सीट ‘‘आप’’ के हिस्से आई है, जबकि चांदनी चौक, नॉर्थ ईस्ट व नॉर्थ वेस्ट सीट कांग्रेस के पास है। इसके अलावा, गुजरात की 26 में से भरूच और भाव नगर और हरियाणा की कुरूक्षेत्र सीट पर भी ‘‘आप’’ का प्रत्याशी होगा। जबकि गुजरात की शेष 24 व हरियाणा की 9 और गोवा की दोनों सीटों पर कांग्रेस का प्रत्याशी होगा। इसकी घोषण करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक ने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अपने-अपने चुनाव चिन्ह पर प्रत्याशी उतारेगी, लेकिन सभी राज्यों में एक-दूसरे के प्रत्याशी को जीताने में पूरा सहयोग करेगी। वहीं, ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच समझौता होने से भाजपा की राणनीति में उलटफेर हो जाएगा। इंडिया गठबंधन मिलकर चुनाव लड़ेगा और जीतेगा।

इंडिया गठबंधन के घटक दल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने शनिवार को साझा प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली समेत कई राज्यों में सीट शेयरिंग की घोषणा कर दी। यह साझा प्रेस कांफ्रेंस आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक, आतिशी और सौरभ भारद्वाज और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली ने की। सीट शेयरिंग की घोषणा करते हुए मुकुल वासनिक ने कहा कि पिछले कुछ समय से इंडिया गठबंधन के विभिन्न राजनैतिक दलों के साथ में लोकसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर चर्चा चल रही थी। दो दिन पहले ही समाजवादी पार्टी के साथ कांग्रेस का सीट शेयरिंग को लेकर समझौता हुआ और उसकी घोषणा लखनउ से हुई। समाजवादी पार्टी को मध्यप्रदेश में खजुराव लोकसभा सीट देने का ऐलान किया गया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल वासनिक ने कहा कि पिछले दिनों आम आदमी पार्टी के साथ सीट शेयरिंग को लेकर लंबी चर्चा हुई और इसके उपरांत कांग्रेस और ‘‘आप’’ के बीच सीटों को लेकर समझौता हुआ है। मुझे बहुत खुशी है कि इंडिया गठबंधन के दो महत्वपूर्ण राजनीतिक दल आने वाले लोकसभा चुनाव का जिम्मा एक साथ संभालेंगे और हमारे मुल्क में लोकतंत्र और संविधान के सामने जिस तरह की चुनौतियां बनी हैं, इंडिया गठबंधन पूरे सशक्त तरीके से उसका मुलाबला करने के लिए तैयार है। इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच सीटों को लेकर समझौता हुआ।

दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर उन्होंने कहा कि दिल्ली में सात लोकसभा की सीटें हैं। दिल्ली की सात सीटों में से चार पर आम आदमी पार्टी और तीन पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी। आम आदमी पार्टी दिल्ली की नई दिल्ली, वेस्ट दिल्ली, साउथ दिल्ली और ईस्ट दिल्ली लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। वहीं, कांग्रेस चांदनी चौक, नॉर्थ ईस्ट और नॉर्थ वेस्ट सीट पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने बताया कि गुजरात में 26 लोकसभा सीटें हैं। इसमें से 24 सीटों कांग्रेस और 2 सीटों पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी। आम आदमी पार्टी गुजरात के भरूच और भाव नगर लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ेगी। हरियाणा में 10 लोकसभा सीटों में से 9 पर कांग्रेस और कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी। चंडीगढ़ लोकसभा सीट को लेकर लंबी चर्चा हुई और आखिर में तय किया गया कि इस सीट पर कांग्रेस अपना प्रत्याशी उतारेगी। गोवा में खासकर दक्षिण गोवा पर विस्तार से चर्चा हुई और अंत में तय किया गया कि गोवा की दोनों सीटों पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी।

कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक ने कहा कि दो अलग-अलग राजनीतिक दल होने की वजह से हम अलग-अलग चुनाव चिंन्हों पर चुनाव लड़ेंगे, लेकिन हमारी जिम्मेदारी रहेगी कि दिल्ली में कांग्रेस अपने तीन प्रत्याशी रखने के बाद भी सातों पर हम किस तरह से कामयाब हो सकते हैं, उस दिशा में हमारा प्रयास रहेगा और हमारे तमाम नेता व कार्यकर्ता उस दिशा में काम करेंगे। इसी तरह की स्थित दूसरे राज्यों में भी इंडिया गठबंधन के घटक दल आपसी तालमेल के साथ काम करेंगे और अपने प्रत्याशियों को जीताने का प्रयास करेंगे।

‘‘आप’’ और कांग्रेस के बीच समझौता होने के बाद जांच एजेंसियों का सिकंजा बढ़ने के सवाल का जवाब देते हुए मुकुल वासनिक ने कहा कि यह प्रश्न केवल आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल तक ही सीमित है, यह मैं नहीं मानता हूं। भाजपा ने आज जिस तरह की परिस्थितियां पूरे देश में खड़ी की है, उसमें देश के लोकतंत्र के लिए चुनौती है। हर किसी के उपर ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स छोड़ा जा रहा है। एक तरह से हर किसी पर दबाव डालने की राजनीति भाजपा कर रही है। हम समझते हैं कि यह भारत के लोकतंत्र के लिए बहुत खतरनाक है। इसका मुकाबला केवल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ही नहीं, बल्कि भारत के लोग मिलकर करेंगे।

वहीं, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि आज देश जिस परिस्थिति से गुजर रहा है, जिस तरह से भारतीय जनता पार्टी की सरकार एक-एक कर देश की सारी संस्थाओं को खत्म कर रही है, जिस तरह से चुनावों की चोरी हो रही है, चुनावों को जीतने के लिए विपक्षी नेताओं को जेल में डाला जा रहा है, किसानों के साथ अन्याय हो रहा है, जिस तरह से देश की जनता महंगाई और बेरोजगारी से जूझ रही है, उसमें आज देश को एक ईमानदार और मजबूत विकल्प की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखते हुए और अपने निजी हितों को दरकिनार करके देश के हितों को ध्यान में रखकर गठबंधन में आए हैं। हमारे लिए देश महत्वपूर्ण है, पार्टी देश के बाद आती है। इस चुनाव को इंडिया लड़ेगी। कुछ सीटों पर आम आदमी पार्टी और कुछ पर कांग्रेस अपने प्रत्याशी उतारेगी। मेरा मानना है कि भाजपा ने जो कैलकुलेशन और रणनीति बनाई थी, इस गठबंधन के बाद उसमें उलटफेर हो जाएगा। इंडिया गठबंधन देश की जनता के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगा और जीतेगा।

एक प्रश्न का जवाब देते हुए डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने अलग-अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का पूरा कैडर देश के लिए राजनीति में आया था। हमारे कैडर से पूछा जाए कि क्या महत्वपूर्ण है तो उसका जवाब होगा कि देश महत्वपूर्ण है। हमारा कैडर वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों को भली-भांति समझ रहा है। हम सब मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

‘आप’ शुरू से ही इंडिया गठबंधन का स्तंभ है, हमने देश को आगे रखा और इसे सफल भी बनाएंगे- आतिशी*

उधर, मीडिया से बातचीत के दौरान आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं कैबिनेट मंत्री आतिशी ने कहा कि आम आदमी पार्टी शुरू से ही इंडिया गठबंधन का एक महत्वपूर्ण स्तंभ रहा है। हम शुरू से ही इंडिया गठबंधन की सफलता के लिए काम करते आए हैं। हालांकि कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग में कुछ समय लगा। लेकिन आम आदमी पार्टी शुरू से ही स्पष्ट करती आई है कि हम इंडिया गठबंधन का हिस्सा हैं और साथ में ही चुनाव लड़ेंगे। परिणाम स्वरूप आज इंडिया गठबंधन के तहत कई राज्यों में सीट शेयरिंग की घोषणा हुई है। इसमें दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, चंडीगढ़ और गोवा शामिल है। मुझे इस बात की खुशी है कि इंडिया गठबंधन इन सारे राज्यों में पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़ेगा। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने देश हित को आगे रखा है। हमने पार्टी हित के बारे में नहीं सोचा है। देश हित को आगे रखते हुए इस बात को लेकर प्रतिबद्ध थी कि इस गठबंधन को सफल बनाएंगे। इसमें हम दोनों ने कुछ-कुछ समझौता किया है। अब मिलकर मजबूती से इंडिया गठबंधन चुनाव लड़ेगा और हम दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, गुजरात में भी जीतेंगे। अब हम चुनाव प्रचार को लेकर एक को-आर्डिनेशन कमिटी बनाएंगे।

भाजपा गठबंधन से असहज है, इसीलिए अरविंद केजरीवाल को इससे अलग होने के लिए धमकियां आने लगीं, लेकिन हम डरने वाले नहीं- आतिशी

सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी की संभावना पर आतिशी ने कहा कि यह सत्य बात है कि जब से यह बात मीडिया में आई कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच सीट शेयरिंग लगभग तय हो गया है तब से हर तरफ से सीएम अरविंद केजरीवाल को धमकियां आने लगीं। हमें यह कहा गया कि अगर आम आदमी पार्टी इंडिया गठबंधन से बाहर नहीं आती है तो ईडी के साथ-साथ अब सीबीआई के माध्यम से अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने का प्लान है। अभी भी हमारे पास खबर है कि सोमवार को सीबीआई का नोटिस आएगा और शायद कुछ दिनों में गिरफ्तारी हो जाए। मैं भाजपा को यह बताना चाहती हूं कि आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल उसकी एजेंसी और गिरफ्तार होने नहीं डरते हैं। इंडिया गठबंधन का हम एक मजबूत स्तंभ हैं, गठबंधन में ही रहेंगे और इंडिया गठबंधन में चुनाव जीतेगी.